Market Live

Saturday, 25 February 2017

भारतीय शेयर बाजार टिप्स; शेयर बाजारों में रही डेढ़ फीसदी तेजी

बीते सप्ताह शेयर बाजार हल्की बढ़त के साथ बंद हुए। वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के साथ ही दिग्गज कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के शेयरों में आई तेज उछाल से निवेशकों का मनोबल मजबूत हुआ और गुरुवार के सत्र में सेंसेक्स 29,000 की मनोवैज्ञानिक सीमा को पार कर गया। महाशिवरात्रि के कारण शुक्रवार को बाजार बंद रहे। उससे पहले चार दिन के कारोबार में सेंसेक्स ने सभी दिन बढ़त हासिल की। साप्ताहिक आधार पर बीते सप्ताह सेंसेक्स 424.22 अंकों या 1.49 फीसदी की तेजी के साथ 28,892.97 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी के 50 शेयरों का सूचकांक 117.80 अंकों या 1.33 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 8,939.50 पर बंद हुआ। 

बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 0.81 फीसदी और स्मॉलकैप सूचकांक में 0.89 फीसदी की तेजी रही। दोनों ही सूचकांकों ने सेंसेक्स से कमजोर प्रदर्शन किया। सोमवार को बाजार की सकारात्मक शुरुआत हुई और सेंसेक्स 192.83 अंकों या 0.68 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 28,661.58 पर बंद हुआ। मंगलवार को सेंसेक्स 100.01 अंकों या 0.35 फीसदी तेजी के साथ 28,761.59 अंकों पर बंद हुआ। बुधवार को सेंसेक्स 103.12 अंकों या 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 28,864.71 पर बंद हुआ। गुरुवार को शेयर बाजारों में काफी तेज उतारचढ़ाव देखा गया और सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 28.26 अंकों या 0.1 फीसदी की मामूली तेजी के साथ 28,892.97 पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 में से 19 शेयरों में तेजी और 11 में गिरावट देखी गई। 

इस सप्ताह सेंसेक्स के जिन शेयरों में तेजी रही, उनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज (9.97 फीसदी), इंफोसिस (0.94 फीसदी), विप्रो (2.07 फीसदी), टीसीएस (3.05 फीसदी), टाटा मोटर्स (2.05 फीसदी), मारुति सुजुकी (0.72 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (0.49 फीसदी), एक्सिस बैंक (7.9 फीसदी), एचडीएफसी बैंक (1.3 फीसदी), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (0.63 फीसदी), कोल इंडिया (3.78 फीसदी), एशियन पेंट्स (4.98 फीसदी), टाटा स्टील (3.66 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (2.97 फीसदी) और हिन्दुस्तान यूनीलीवर (1.9 फीसदी) प्रमुख रहे। वहीं, सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में- भारती एयरटेल (0.93 फीसदी), एनटीपीसी (2.54 फीसदी), पॉवरग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (1.65 फीसदी), एचडीएफसी (1.21 फीसदी) और आईटीसी (0.95 फीसदी) प्रमुख रहे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने बुधवार को कहा कि भारत का समग्र दृष्टिकोण सकारात्मक बना हुआ है। 

हालांकि नोटबंदी के कारण विकास प्रभावित हुई है और व्यापारिक गतिविधियों में अवरोध उत्पन्न हुआ है, मांग घटी है। लेकिन यह अस्थायी है और आर्थिक सुधारों को लागू करने से यह फिर जोर पकड़ेगी। अपने नवीनतम आकलन में आईएमएफ ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिए 7.2 फीसदी और वित्त वर्ष 2017-18 के लिए 6.6 फीसदी विकास दर का अनुमान लगाया है।

Get Indian Stock Market Tips for click here http://www.ripplesadvisory.com/services.php.

viny k.samual

About viny k.samual

Author Description here..

Subscribe to this Blog via Email :

Note: only a member of this blog may post a comment.