सरकार ऋण वृद्धि को बढ़ाने के प्रयास में जुटी : अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि सरकार ऋण वृद्धि और अर्थव्यवस्था के विस्तार के लिए विभिन्न कदम उठा रही है जिसमें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पुर्नपूजीकरण भी शामिल है। जेटली ने राज्यसभा में कहा, "सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) के पूंजीकरण के लिए विनियामक पूंजी मानदंडों के साथ-साथ बढ़ती अर्थव्यवस्था की जरूरतों को पूरा करने के लिए ऋण वृद्धि को बढ़ाने का प्रयास भी कर रही है।"

जेटली ने कहा कि यह मूल्यांकन किया गया है कि पीएसबी में 1.80 लाख करोड़ रुपये के निवेश की आवश्यकता है। जेटली ने कहा, "इंद्रधनुष स्कीम के तहत, सरकार ने बजटीय संसाधनों से 70,000 करोड़ रुपये का निवेश करने का निर्णय लिया है।

केंद सरकार की नीति से दूसरी किश्त की पूंजी 1.10 लाख करोड़ रुपये आएगी, जिसमें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की हिस्सेदारी को कम किया जा सकता है, लेकिन इसे निश्चित रूप से न्यूनतम 52 प्रतिशत के स्तर पर रखा जाएगा।"

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे -- http://www.ripplesadvisory.com/nifty-future-.php

Riyanshi

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.