जीएसटी क्रियान्वयन की तिथि आगे बढ़ाने का कारण नहीं

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) एक सरल अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था है और एक जुलाई से इसे लागू करने की तिथि को आगे बढ़ाने का कोई कारण नहीं है। जेटली ने सीएनबीसी टीवी18 से कहा, "सभी प्रक्रियात्मक मामलों में निर्णय लिए जा चुके हैं, तेजी से पंजीकरण की प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में मैं इसे एक जुलाई से लागू करने के लक्ष्य को पूरा नहीं करने का कोई कारण नहीं देखता हूं।"

पश्चिम बंगाल के वित्तमंत्री अमित मित्रा ने एक जुलाई से जीएसटी लागू करने की व्यावहारिकता पर गंभीर सवाल उठाते हुए कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) अभी पूरी तरह से तैयार नहीं है। हालांकि जेटली ने कहा कि दूसरे राज्यों के वित्तमंत्री मित्रा की राय से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। जीएसटी का विकास दर पर किसी नकारात्मक असर से इनकार करते हुए जेटली ने कहा कि शुरुआत में इसे लागू करने के दौरान कुछ परेशानियां आ सकती हैं, लेकिन वास्तव में इससे निर्धारिती आधार और कर आधार में बढ़ोतरी होगी। शेयर बाजार की जानकारी के लिए क्लिक करे -- http://www.ripplesadvisory.com/nifty-future-.php

Riyanshi

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.