चीनी बैंकों पर मुनाफे का दबाव : मूडीज


वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज का कहना है कि मुनाफा कमाने से संबंधित संसाधनों में किसी तरह की उल्लेखनीय गिरावट न होने के बावजूद देश में आर्थिक विकास की धीमी गति के कारण चीन के सूचीबद्ध बैंक मुनाफा कमाने का दबाव महसूस कर रहे हैं। मूडीज इन्वेस्टर सर्विस का कहना है कि बैंकों के पूंजीकरण और तरलता की स्थिति कुल मिलाकर स्थिर बनी हुई है, लेकिन संपत्ति वृद्धि की अधिक तेज दर के कारण छोटी संस्थाओं में कमजोरी बनी हुई है। इंडस्ट्रियल कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना सहित 11 संयुक्त शेयर वाले व्यावसायिक बैंक एवं सरकारी बैंकों ने 2016 में औसतन 12 प्रतिशत ऋण वृद्धि दर्ज कराई है।


यह 2015 की 10 फीसदी की तुलना में अधिक है। जबकि बड़े सरकारी बैंकों की तुलना में संयुक्त शेयर वाले व्यावसायिक बैंकों का कर्ज अधिक तेजी से बढ़ रहा है। रेटिंग एजेंसी ने कहा है कि इन 11 बैंकों का एसेट परफार्मेस बीते वर्ष कुल मिलाकर स्थिर बना रहा है। एजेंसी ने कहा कि पूरे वर्ष मुनाफा कमाने पर दबाव बना रहा, जैसा कि बैंकों के रिटर्न ऑन एवरेज एसेट्स (आरओए) में गिरावट से नजर आ रहा है, जिसकी वजहों में शुद्ध ब्याज नफे का सिकुड़ना भी शामिल है। 11 बैंकों का आरओए 2015 के 1.15 फीसदी से घटकर 2016 में 1.05 हो गया है। चीन की अर्थव्यवस्था का विस्तार 2016 में 6.7 फीसदी हुआ, जो पिछले 25 सालों में सबसे कम है।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे -- http://www.ripplesadvisory.com/nifty-future-.php

Riyanshi

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.