मार्च में घरेलू विमान यात्रियों की वृद्धि दर घटी

देश के घरेलू विमान यात्रियों की वृद्धि दर मार्च में घटकर 14.6 फीसदी रही, जबकि फरवरी में यह 17 फीसदी थी। एक वैश्विक एयरलाइन एसोसिएसन ने गुरुवार को यह जानकारी दी। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) के आंकड़ों के मुताबिक देश के घरेलू विमान यात्रियों की वृद्धि दर में यह 2015 के सितंबर माह के बाद से सबसे बड़ी गिरावट है। आईएटीए ने मार्च 2017 की यात्रियों की संख्या के विश्लेषण रपट में कहा, "यह नकदी की कमी और आर्थिक अनिश्चितता का स्पष्ट संकेत है, जिससे मांग घटी है।"


इसी तरह से मार्च में घरेलू विमान यात्रियों से प्राप्त होने वाला राजस्व प्रति किलोमीटर (आरपीके) में भी कमी आई है और देश का स्थान ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, चीन जापान, रूस और अमेरिका जैसे देशों के बीच घटकर तीसरे नंबर पर रह गया है। जबकि पिछले 23 महीनों में भारत लगातार दुनिया में शीर्ष पर था। आईएटीए के आंकड़ों से पता चलता है कि देश के घरेलू आरपीके में पिछले साल के मार्च की तुलना में इस साल 14.6 फीसदी की तेजी आई है। आरपीके वास्तविक यात्रियों की संख्या को नापने का पैमाना है।

शेयर बाजार की जानकारी के लिए क्लिक करे -- http://www.ripplesadvisory.com/nifty-future-.php

Riyanshi

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.